|

10 कंप्यूटर वायरस से बचने के उपाय (Compurer Virus Se bachne ke upaye)

Compurer Virus Se bachne ke upaye: इस पोस्ट में, हम आपके कंप्यूटर वायरस से बचने के उपाय बताएंगे।

क्या आपको लगता है कि आपके कंप्यूटर की बेसिक सिक्योरिटी सिस्टम मॉलवेयर से सुरक्षा प्रदान करने के लिए पर्याप्त हैं?

2018 मॉलवेयर हमलों में “मेगा-ब्रीच” का वर्ष था, जिसने फेसबुक, क्वोरा और मैरियट जैसे बड़े कंपनियों को प्रभावित किया। इसमें 2017 से 133% की वृद्धि हुई है।

Compurer Virus Se bachne ke upaye
  • Save

यदि यह अरबों डॉलर के कंपनियों के साथ हो सकता है, तो यह आपके साथ भी हो सकता है। जैसे-जैसे साइबर खतरों की संख्या बढ़ती है, वैसे वैसे हमको इन खतरों से बचने के नए उपाय खोजने होंगे।

आपको पता होना चाहिए कि कंप्यूटर वायरस को कैसे रोका जाए और आपने महत्वपूर्ण डाटा को कैसे बचा के रखा जाये। 

इंटरनेट इस्तिमाल करते समय हम काफी सारे वेब्सीटेस का एक्सेस करते है, बहुत से लिंक क्लिक करते है और फाइल्स डाउनलोड करते हैं। हमें मालूम नहीं होता कौन सा लिंक या फाइल सही है और कौन से में वायरस है। इसलिए एंटीवायरस इनस्टॉल करने के साथ साथ और भी कई चीज़ों का ध्यान रखना पड़ेगा।

कंप्यूटर वायरस से बचने के उपाय – Compurer Virus Se bachne ke upaye

हम आपको १० ऐसे चीज़ें बता रहे है जिसका इस्तिमाल कर्म आप आपने डाटा और कंप्यूटर को पूरी तरह सुरक्षित रख सकते हैं। 

1. ईमेल में लिंक पर क्लिक न करें

अगर आपके पास मेल आया है और आप उस व्यक्ति को नहीं पहचानते है तो ईमेल पैर दिए गए लिंक को क्लिक ना करें। माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि 44.8 प्रतिशत विंडोज वायरस संक्रमण इसलिए होता है क्योंकि कंप्यूटर यूजर ने किसी लिंक पर क्लिक किया।

अगर आप पूरी तरह आश्वस्त है की लिंक सही है तो ही लिंक पैर क्लिक करें अगर थोड़ा भी डाउट है तो मेल डिलीट कर दें।

  • Save

2. आपने कंप्यूटर में एन्टीवॉयरस इनस्टॉल करें

कई एंटीवायरस प्रोग्राम उपलब्ध हैं, ये सुरक्षा के स्तर को बढ़ाते है और आपके कंप्यूटर को सुरक्षित रखते हैं। एंटीवायरस फ्री और पेड डोंट आते है।

हम आपको यही सलाह देंगे की कोई पेड एंटीवायरस आपने कंप्यूटर में इस्तिमाल करे। ये एंटीवायरस कंप्यूटर के डाटा की पूरी सुरक्षा प्रदान करते है और नियमित रूप से इसके वायरस डेफिनेशन अपडेटs होते रहते है।

  • Save

जब तक आप अपने कंप्यूटर से इंटरनेट का उपयोग नहीं करते हैं, तब तक एंटीवायरस की कोई विशेष नहीं है। हालांकि आपके कंप्यूटर में पेन ड्राइव से भी वायरस आ सकता है। लेकिन आमतौर में आप इंटरनेट का इस्तिमाल रोज़ाना होता है इसलिए एंटीवायरस ज़रूरी हो जाता है। 

इसमें ज्यादा खर्चा नहीं होता और लम्बे समय का सब्सक्रिप्शन मिल जाता है।  अगर आप एंटीवायरस खरदना नहीं चाहते तो आप फ्री एंटीवायरस का इस्तिमाल कर सकते हैं।

अगर आपको फ्री एंटीवायरस चाहिए तो आप यहाँ से फ्री अवास्ट एंटीवायरस डाउनलोड कर सकते है।


3. आपने कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर हमेशा अपडेटेड रखें

सभी कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम लगातार अपडेट प्राप्त करते हैं जो आपके यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाते हैं। इन अपडेट में सुरक्षा उपाय भी शामिल होते हैं जो हमारे कंप्यूटर को हैकर्स द्वारा तैयार किए गए वायरस और मॉलवेयर से सुरक्षित रखते हैं।

हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि अपडेट मैन्युअल हैं या ऑटोमेटेड रूप से डाउनलोड और इंस्टॉल करने के लिए सेट हैं। सावधान रहें, ये इंस्टॉलेशन समय लेने वाली हो सकती हैं, खासकर यदि बड़ा अपडेट है तो। ये सभी अपडेट कंप्यूटर के सुरक्षा बढ़ाते हैं और नए फीचर्स प्रदान करते हैं।

  • Save

4. अपने कंप्यूटर का बैकअप लेकर रखें

कभी-कभी आप अपने कंप्यूटर से किसी वायरस या मॉलवेयर को हटा नहीं पाते हैं, और कंप्यूटर का डाटा करप्ट होने की संभावना रहती है। परिस्थिति में कंप्यूटर हार्ड ड्राइव को फॉर्मेट करना ही अंतिम विकल्प होता है।  फॉर्मेट करने से आपका पूरा महत्वपूर्ण डाटा उड़ जायेगा।

फिर आप नया ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करोगे लेकिन आपके पास आपका डाटा नहीं होगा। बैकअप के बिना, किसी भी खोए हुए डेटा को फिर से प्राप्त करने का कोई तरीका नहीं है। इससे बचने के लिए आप आपने डाटा का बैकअप बनाकर रख सकते है।

  • Save

आपके बैकअप को स्टोर करने के लिए तीन बुनियादी विकल्प हैं: एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव, ऑनलाइन स्टोरेज और क्लाउड स्टोरेज।

आपके बैकअप को स्टोर करने के लिए तीन बुनियादी विकल्प हैं: बाहरी हार्ड ड्राइव, ऑनलाइन स्टोरेज और क्लाउड स्टोरेज।

Google ड्राइव जैसी सेवा का उपयोग करें, और आपकी फ़ाइलों का लगातार क्लाउड पर बैकअप लिया जाएगा। और कीमत सही है: 5 जीबी तक डेटा के लिए मुफ्त। अधिक के लिए, ऑनलाइन क्लॉउड स्टोरेज के बारे में जानकारी लें।


5. एक मजबूत पासवर्ड का प्रयोग करें

पासवर्ड रक्षा की पहली पंक्ति है जो हमारे खातों को अनधिकृत पहुंच प्राप्त करने की कोशिश करने वाले किसी भी व्यक्ति से बचाता है। अगर उन्हें पासवर्ड मिल गया तो वो डेटा चुरा सकते हैं या हानिकारक सामग्री को क्लाउड स्टोरेज में रख सकते हैं, बैंक अकाउंट से पैसा निकल सकते है।

सबके लिए कुछ एकाउंट्स के पासवर्ड बहुत महत्वापूर्ण होते है जैसे ईमेल का, कंप्यूटर का, नेटबैंकिंग अकाउंट का  इसलिए आपको अपना पासवर्ड बहुत ही मज़बूत या स्ट्रांग बनाना चाहिए जिसे कोई क्रैक ना कर सके।

  • Save

एक मजबूत पासवर्ड जटिल होता है और अक्सर किसी भी तरह से खुद से संबंधित नहीं होता है। सबसे आम पासवर्ड जिनका आसानी से अनुमान लगाया जाता है, वे हैं “password, 12345678 और अपना नाम या फ़ोन नंबर। प्रत्येक वेबसाइट या ऐप के लिए एक ही लॉगिन डिटेल का इस्तिमाल करने से भी आप हैकिंग का शिकार बन सकते हैं।


6. पॉप-अप अवरोधक(Blocker) का प्रयोग करें

वेब ब्राउज़र में पॉप-अप विंडो को रोकने की क्षमता होती है और आप पॉप-अप स्वीकार या अस्वीकार करने के लिए सेटिंग कर सकते हैं। पॉप-अप स्क्रीन के भीतर लिंक पर क्लिक न करें। इन पॉपअप से वायरस या मॉलवेयर आने की संभावना होती है।

यदि आपके कंप्यूटर धीमा हो रहा है, क्रैश का प्रॉब्लम आ रहा है या फिर एरर बार बार आ रहा है तो हो सकता है की आपके कंप्यूटर में वायरस आ गया हो।


7. Ad ब्लॉकर इनस्टॉल करें

ऑनलाइन पॉप-अप विज्ञापन अक्सर ऐसी वेबसाइटों तक ले जा सकते हैं जो हमारा डेटा चुराती हैं और वायरस स्थापित करती हैं। जब तक हम एक विश्वसनीय विज्ञापन-अवरोधक डाउनलोड नहीं करते हैं, तब तक इनसे बचने की कोशिश करना अक्सर आसान नहीं होता है।

मुफ्त और पेड विज्ञापन-अवरोधक खोजना आसान है। कीमत में अंतर आम तौर पर इस बात से संबंधित होता है कि यह कितनी अच्छी तरह काम करता है। वेब ब्राउज़ करते समय हमें सावधान रहना चाहिए, भले ही हमारे पास सक्रिय विज्ञापन-ब्लॉकर है।

  • Save

8. स्वचालित स्कैन सेट करें आपने कंप्यूटर में

अपने कंप्यूटर पर दैनिक या साप्ताहिक चलने के लिए स्कैन सेट करें। किसी भी वायरस से छुटकारा पाने के लिए एक अच्छा तरीका है। यह आपके कंप्यूटर को समस्याओं से मुक्त रखता है।

इन दिनों वायरस और खोए हुए डेटा से खुद को बचाना पहले की तुलना में बहुत आसान है और इसके लिए एक पैसा भी खर्च नहीं करना पड़ता है। यह सुनिश्चित करने के लिए आज कुछ मिनट निकलना पड़ेगा आपकी अपनी सुरक्षा के लिए।

  • Save

9. आपने कंप्यूटर में फ़ायरवॉल इनस्टॉल करें


अपने पीसी को हैकर्स से बचाने का सबसे अच्छा तरीका है कि उन्हें शुरू से ही इसे एक्सेस करने से रोका जाए। आप फ़ायरवॉल इनस्टॉल करके ऐसा कर सकते हैं। फ़ायरवॉल आपके कंप्यूटर तक पहुँच प्राप्त करने के बाहरी प्रयासों को रोक देगा।

  • Save

यह आपके कंप्यूटर को कुछ वायरस, मॉलवेयर और ट्रोजन से भी बचा सकता है। सभी विंडोज़-आधारित कंप्यूटर/लैपटॉप/टैबलेट पहले से इन्सटाल्ड विंडोज फ़ायरवॉल के साथ आते हैं। हालाँकि, अधिकांश इंटरनेट सुरक्षा सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम में फ़ायरवॉल इनस्टॉल करने का विकल्प भी शामिल होता है।


10. ईमेल अटैचमेंट को बिना स्कैन किये न खोलें


वायरस फैलने का सबसे आम तरीका ईमेल के माध्यम से है। सुनिश्चित करें कि आप एक ईमेल खोलने से पहले सभी अटैचमेंट्स को स्कैन करना आवश्यक है, यह सुनिश्चित करने के लिए कि अटैचमेंट में वायरस तो नहीं है।

निष्कर्ष:

ज्यादातर वायरस से मिलते जुलते मेल स्पैम फोल्डर में चले जाते हैं लेकिन कुछ मेल प्रिमरी फोल्डर में भी आ जाते हैं। आपको किसी मेल में अटैचमेंट दीखता है तो पहले सकाम कर लें फिर खोलें।


इसी तरह की और भी बेहतरीन जानकारी के लिए विजिट करते रहें www.thegoodhome.in

बहुत बहुत धन्यवाद् पढ़ने के लिए।

Similar Posts