|

कंप्यूटर का परिचय और इतिहास – Computer ka parichay aur itihas – Introduction to Computer

कंप्यूटर का परिचय और इतिहास – Computer ka parichay aur itihas

इस पोस्ट में हम आपको ये जानकारी देंगे की कंप्यूटर कैसे काम करते हैं और उनका उपयोग कैसे करते हैं।

कंप्यूटर क्या है, कंप्यूटर को सेटअप कैसे करते है, कंप्यूटर के अलग अलग पार्ट्स, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी देंगे। साथ में हम ये बताएँगे की कंप्यूटर कैसे चलना है।

अगर आप पहली बार कंप्यूटर यूज़ कर रहे है या फिर आप कंप्यूटर के बारे में ज्यादा सीखना चाहते है की कंप्यूटर कैसे काम करता है।

आपको सभी आवश्यक जानकारी हमारे इस टुटोरिअल के द्वारा मिल जायेगा। ये टुटोरिअल ख़तम करने के बाद आपको कंप्यूटर का उपयोग करने की मूलभूत समझ होगी।

आप कंप्यूटर के दूसरे एडवांस कोर्स कर सकते है इसके बाद।

कंप्यूटर क्या है?

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण या एक मशीन है जो डेटा को संसाधित करता है, या फिर समस्या को हल करने वाला इलेक्ट्रॉनिक मशीन है ।

Computer ka parichay aur itihas
  • Save

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो इनपुट किया गए डाटा को प्रोसेस करता है और एक सार्थक आउटपुट देता है, जिसका हम इस्तिमाक कर सकते है। कंप्यूटर यूजर के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करता है और आउटपुट देता है।

कंप्यूटर में प्रोसेसर(Processor) होता है तो जटिल सनसकयों के आसानी से कुछ ही सेकण्ड्स में सॉल्व कर देता है। कंप्यूटर इनपुट किये डाटा और आउटपुट को आपने हार्डडिस्क में सेव कर के रख सकता है जिसक हम कभी भी इस्तिमाल कर सकते हैं।

कंप्यूटर हार्डवेयर (Hardware) और सॉफ्टवेयर (Software) को एक साथ उपयोग करने जटिल समस्यों का समाधान करता है ।

हार्डवेयर – हार्डवेयर कंप्यूटर के भौतिक हिस्सा है, जो आपको दिखाई देता है, जैसे कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर इत्यादि।

सॉफ़्टवेयर – सॉफ़्टवेयर एक कार्यक्रमों का सेट और निर्देश है, जो कंप्यूटर द्वारा कार्य करने के लिए उपयोग में लाया जाता है । उदाहरण के लिए एमएस ऑफिस, एमएस पेंट, पावर प्वाइंट ।

फादर ऑफ़ कंप्यूटर

  • Save

चार्ल्स  बैबेज को फादर ऑफ़ कंप्यूटर कहा जाता है । ऐसे कई कंप्यूटर में अविष्कार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाया कई लेकिन चार्ल्स बैबेज का सबसे ऊपर स्थान है ।

उन्होंने एनालिटिकल इंजन का आविष्कार किया 1837 आविष्कार किया था उसके पार्ट्स जैसे अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट और फ्लो ऑफ़ कण्ट्रोल एंड बेसिक महत्वपूर्ण हैं ।

चा का जन्म लंदन, इंग्लैंड में हुआ था वे एक गणितज्ञ, दार्शनिक, आविष्कारक और यांत्रिक इंजीनियर थे ।

कंप्यूटर का इतिहास

माना जाता है कि कंप्यूटर का इतिहास अबेकस के जन्म के साथ शुरू हुआ था ।  अबेकस को पहला कंप्यूटर मन जाता ह।। ऐसा कहा जाता है कि चीनी ने लगभग 4,000 साल पहले अबेकस का आविष्कार किया था।

जनरेशन(पीढ़ी) ऑफ़ कंप्यूटर – Generations of Computer

समय के साथ कंप्यूटर प्रौद्योगिकी में सुधार हुआ है । इन सभी सुधारों और नए टेक्नोलीफी के आधार पर कंप्यूटर प्रौद्योगिकी और क्रांति के आधार पर पांच जनरेशन में बनता गया है ।

  • पहली पीढ़ी कंप्यूटर का (1946- 1959)
  • दूसरी पीढ़ी कंप्यूटर का (1959-1965)
  • तीसरी पीढ़ी कंप्यूटर का (1965-1972)
  • चौथी पीढ़ी कंप्यूटर का (1972-1980)
  • पांचवीं पीढ़ी कंप्यूटर का (1982- वर्तमान)

कंप्यूटर के भाग – Parts of Computer

सभी कंप्यूटर में एक प्रोसेसर (सीपीयू), मेमोरी और इनपुट / आउटपुट डिवाइस से बने होते हैं। जब भी आप कंप्यूटर का उपयोग करते हैं तो प्रत्येक भाग एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

CPU – Central processing unit

  • Save

CPU का फुल फॉर्म Central processing unit है। CPU को कंप्यूटर का मस्तिष्क माना जाता है। ये सभी प्रकार के डेटा प्रोसेसिंग ऑपरेशन करता है। कंप्यूटर के सभी पार्ट्स CPU से कनेक्ट होते है। यह कंप्यूटर के सभी भागों के संचालन को नियंत्रित करता है। यूजर से CPU इनपुट लेता है, डाटा को प्रोसेस करता है और आउटपुट देता है।

मॉनिटर – Monitor

  • Save

मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है जो इमेज और टेक्स्ट को डिस्प्ले कर्म के लिए काम में लाया जाता है।  ये वीडियो कार्ड के द्वारा काम करता है जो CPU के अंदर लगा रहता है।

कीबोर्ड – Keyboard

  • Save

कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है ये बहुत ही महत्वपूर्ण है। तय टाइप करने के लिए उसे में लाया जाता है। इससे आप आप कंप्यूटर के सभी काम को कण्ट्रोल कर सकते है।

माउस – Mouse

  • Save

एक कंप्यूटर माउस हाथ से इस्तिमाल किये जाने वाला इनपुट डिवाइस है जो एक जीयूआई (ग्राफिकल यूजर इंटरफेस) में एक कर्सर को नियंत्रित करता है और आपके कंप्यूटर पर टेक्स्ट, आइकन, फाइल और फोल्डर को स्थानांतरित करने और क्लिक करने के काम आता है।

प्रिंटर – Printer

  • Save

प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है।  यस फोटो ये लेटर का प्रिंटआउट लेने के लिए काम में आता है। हम कंप्यूटर में कोई लेटर या फॉर्मेट टाइप कर्म प्रिंटर में द्वारा उसका पेपर में प्रिंट ले सकते है। 

मेमोरी

  • Save

कंप्यूटर मेमोरी में सारा डाटा स्टोर होता है। यूजर के द्वारा इनपुट किया डाटा और प्रोसेस्ड डाटा मेमोरी में सुरक्षित रहता है और कभी भी यूज़ किया जा सकता है l

टाइप्स ऑफ़ कंप्यूटर

पर्सनल कंप्यूटर – Personal Computer

  • Save

पर्सनल कंप्यूटर व्यक्तिगत उपयोग के लिए डिज़ाइन किया गया है। ये सस्ते आते है और ये माइक्रोप्रोसेसर टेक्नोलिगी से काम करते है। ये ज्यादातर बेसिक ऑपरेशन के लिए उसे होता है जैसे वर्ड प्रोसेसिंग, एकाउंटिंग, डेस्कटॉप पब्लिकेश और प्रोग्रामिं। घर पर ये इंटरनेट ब्राउज़िंग और गेम खलने के लिए उसे होता है।

वर्कस्टेशन – Workstation

  • Save

वर्कस्टेशन भी एक पर्सनल कंप्यूटर के तरह काम करता है। इसमें अधिक शक्तिशाली माइक्रोप्रोसेसर होता है जो जटिल काम के लिए उसे होता है। ये ऑफिसेस और सॉफ्टवेयर कम्पनीज में उसे होता है, इसमें कंप्यूटर एप्लीकेशन जैसे CAD/CAM, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और कई हाई ग्राफ़िक्स सॉफ्टवेयर चलने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

मिनी कंप्यूटर – Mini Computer

  • Save

यहाँ एक मल्टी यूजर कंप्यूटर सिस्टम है जो एक समय में बहुत सारे यूजर को सपोर्ट करता है।

मेनफ्रेम – Mainframe

  • Save

मेनफ्रेम भी माइक्रो कंप्यूटर की तरह कई यूजर को सपोर्ट करता है। ये एक समय में कहत सारे प्रोग्राम्स एक्स साथ एक्सेक्यूटे करता ह। ये दूसरे कम्प्यूटर से महंगा होता है।

सुपरकम्प्युटर – Supercomputer

  • Save

सुपरकम्प्युटर सबसे तेज़ कंप्यूटर होता है। ये बहुत महंगे होतें है और ये काम्प्लेक्स कैलकुलेशन के लिए उपयोग में लाये जाते हैं।

कंप्यूटर काम कैसे करता है? – How computer works?

कंप्यूटर एक मशीन है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से मिलकर बना है। एक कंप्यूटर इनपुट यूनिट के माध्यम से डेटा प्राप्त करता है निर्देशों के आधार डाटा को प्रोसेस करता है और इसे आउटपुट डिवाइस के माध्यम से वापस भेजता है।

  • Save

Input Device – इनपुट डिवाइस

एक इनपुट डिवाइस कोई भी हार्डवेयर डिवाइस है जो कंप्यूटर को डेटा भेजता है l कंप्यूटर को एक इनपुट डिवाइस डाटा देता है। कीबोर्ड, माउस आदि इनपुट डिवाइस हैं। डाटा एक तथ्यों का संग्रह जैसे नंबर्स, लेटर्स या वर्णमाला (Alphabets) , फोटो या आवाज़ जो हम कंप्यूटर में डालते हैं।

इनपुट डिवाइस के उदहारण

  • माउस
  • कीबोर्ड
  • जॉय स्टिक
  • स्कैनर
  • पेन ड्राइव
  • कार्ड रीडर
  • बार कोड रीडर
  • लाइट पेन

Processing – प्रोसेसिंग (प्रसंस्करण या डाटा को प्रोसेस करना)

प्रोसेसिंग कंप्यूटर के CPU में होती है जिसे सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट कहते हैं। प्रोसेसिंग के द्वारा डेटा को एक सार्थक जानकारी के रूप में बदला जाता है।

Output Device – आउटपुट डिवाइस

आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर से डेटा प्राप्त करता है, आमतौर पर कंप्यूटर द्वारा प्राप्त किये डाटा को डिस्प्ले करता है उदहारण के लिए मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस है जो डाटा डिस्प्ले करता है।

आउटपुट डिवाइस के उदहारण

  • मॉनिटर
  • प्रोजेक्टर
  • प्रिंटर
  • हेडसेट
  • स्पीकर

Storage – स्टोरेज

  • Save

कंप्यूटर में डाटा को जमा करके या सेव करके रखने के लिए स्टोरेज डिवाइस का इस्तिमाल किया जाता है। स्टोरेज डिवाइस में रखे हुए डाटा को आप कभी भी देख सकते है आपने कंप्यूटर में। उद्धरण के लिए आप आपने फोटो स्टोरेज डिवाइस में रख सकते है और बाद में कभी भी इसे ओपन करके देख सकते हैं। स्टोरेज डिवाइस में डाटा स्थाई रूप से स्टोर हो जाता है और डिलीट नहीं होता जब तक आप खुद डिलीट ना करें।

स्टोरेज डिवाइस के उदहारण:

  • CD
  • DVD
  • Pen Drive
  • Hard Disk
  • SSD

कंप्यूटर कैसे चलाते हैं? – How to use Computer?

कंप्यूटर चलना बहुत ही आसान है। अगर आपको कंप्यूटर चलना नहीं आता है तो आज के दिनों में आपको बहुत परेशनी होगी। 

आजकल ज्यादातर काम कंप्यूटर से होता है, सभी मूलभूत काम कंप्यूटर से होते हैं जैसे पढ़ाई, शॉपिंग,टिकट बुकिंग, बिल पेमेंट आदि।  

अगर आप पहली बार कंप्यूटर में काम कर रहे है तो भी घबराने की जरुरत नहीं है। इस टुटोरिअल में आप आसान तरीके से कंप्यूटर चलना सीखेंगे। 

आप आसानी से कंप्यूटर चला पाएंगे और आप कंप्यूटर के फायदों का लाभ उठा पाएंगे।

अगले पोस्ट में हम आपको बताएँगे की कंप्यूटर सेटअप कैसे करना है?


जरूर पढ़े:

Similar Posts