| |

वेब होस्टिंग क्या है? पूरी जानकारी (Web hosting kya hai?)

यदि आप ‘वेब होस्टिंग क्या है?’ (Web hosting kya hai) पर जानकारी खोज रहे हैं और समझने की कोशिश कर रहे हैं कि अपनी वेबसाइट कैसे बनाना शुरू करना है।

जब आपकी वेबसाइट को लाइव करने की बात आती है तो वेब होस्टिंग का नाम आता है।

वेब होस्टिंग क्या है, आपको इसकी आवश्यकता क्यों है और वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते है, इस पोस्ट में हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे।

  • Save

वेब होस्टिंग क्या है? (Web hosting kya hai)

आसान शब्दों में वेब होस्टिंग का अर्थ है, एक ऐसी सेवा जिसमे इंटरनेट पर आपके वेबसाइट या सॉफ्टवेयर को सर्वर में स्टोर करके रखा जाता है। एक बार जब आपकी वेबसाइट इंटरनेट पर उपलब्ध हो जाती है, तो इसे इंटरनेट के द्वारा किसी भी कंप्यूटर में ओपन करके देखा जा सकता है।

वेब होस्टिंग कैसे काम करता है? (How web hosting works)

जब आप एक बिज़नेस शुरू करते हैं, तो आपको अपने प्रोडक्ट्स को स्थापित करने, स्टोर करने और बेचने के लिए एक जगह की ज़रुरत पड़ती है। वेबसाइट बनाते समय डिजिटल दुनिया में भी यही चीज़े हमें करनी पड़ती हैं।

जब आप एक ऑनलाइन बिज़नेस चालू करते हैं, तो आपके पास फोटोज, फाइल्स, html कोड की होती है जो आपकी वेबसाइट बनाती है। ये फाइलें जगह लेती हैं और रखने के लिए जगह की जरूरत होती है।

एक ऑनलाइन घर के बिना, आपकी फ़ाइलें आपके कंप्यूटर पर बस पड़ी रहती हैं और कोई भी उन्हें कभी नहीं देख पाता। एक होस्टिंग कंपनी आपकी सभी फाइलों को संग्रहीत करने के लिए एक वेब सर्वर पर फाइल्स रखने के लिए जगह देता है

जैसे ही कोई आपने ब्राउज़र पर आपके वेबसाइट के नाम को टाइप करता है, आपकी वेबसाइट ओपन हो जाती है । अगर आपकी वेबसाइट वेब होस्टिंग सेवा में नहीं है तो कोई भी आपके वेबसाइट को नहीं देख सकता।

जब आप होस्टिंग सेवाओं के लिए पैसा देते है, तो आप बस इंटरनेट पर आपने वेबसाइट को स्टोर करने के लिए किराए पर जगह लेते हैं – ठीक उसी तरह जैसे आप अपने व्यवसाय के लिए एक दुकान किराए पर लेते हैं।

डोमेन नेम क्या है? What is a Domain Name?

  • Save

इससे पहले कि हम और गहराई में जाएं, डोमेन नामों के बारे में थोड़ा जानकारी ले लें। जब आपने पहली बार एक ऑनलाइन बिज़नेस शुरू करने के बारे में सोचा होगा तो सबसे पहले आपने डोमेन नाम ख़रीदा होगा। एक डोमेन नेम इंटरनेट पर आपकी कंपनी का पता है।

डोमेन नेम सिस्टम का उदाहरण: www.google.com, www.amazon.com, www.flipkart.com

इसे इस तरह से सोचें, यदि आप अपने बिज़नेस के लिए कोई जगह किराए पर ले रहे हैं, तो आप आपने ग्राहकों को अपना पता देना होगा ताकि वे आपको ढूंढ सकें। यदि आप इंटरनेट पर जगह किराए पर ले रहे हैं, तो आप ग्राहकों को अपना डोमेन नेम पता के रूप में दे सकते हैं।

अलग-अलग प्रकार के डोमेन नेम ले सकते है आपके बिज़नेस के अनुसार। अगर आप ग्लोबली बिज़नेस चला रहे है तो आप .com लें, इंडिया के अंदर बिज़नेस में लिए .in, एजुकेशन फील्ड में बिज़नेस है तो .edu , और ऐसे बहुत सारे डोमेन हैं जो आप ले सकते हैं जैसे .net .org .xyz .to .io .sh etc.

जब भी कोई आपके डोमेन नेम को टाइप करेगा तो वह एक IP एड्रेस में बदल जायेगा। होस्टिंग कंपनी तब आपके IP अड्रेस से जुड़ी सभी फाइलों का खोज कर आपके वेबसाइट को ओपन कर देगी।

जैसे हर घर का पता अलग और यूनिक होता है, वैसे ही हर डोमेन नेम भी यूनिक होता है। जब भी आप कोई नई वेबसाइट शुरू करते हैं, तो आपको ऐसा नाम चुनना चाहिए जो आपके ब्रांड को पूरी तरह से दिखाए।

How to Choose a Hosting Provider

वेब वेब होस्टिंग सेवा लेते समय आपको अलग-अलग प्रकार के वेब होस्टिंग के बारे में जानना ज़रूरी है। वेब होस्टिंग की बहुत सारी कंपनी है, आपको वेब होस्टिंग सेवा खरीदने से पहले इन सब चीज़ों के बारे में जानना ज़रूरी है।

आप किस प्रकार की वेबसाइट बना रहे हैं?  e-commerce, blog, Affiliate website या फिर portfolio.

वेबसाइट के प्रकार के आधार पर, आपकी साइट को चलाने के लिए कितने bandwidth की आवश्यकता है ?

क्या आप अपने डोमेन के लिए ईमेल एड्रेस बना सकते हैं?

किस प्रकार के वेब होस्टिंग मार्किट में उपलब्ध हैं?

क्या वे SSL सुविधा दे रहे हैं?

एक होस्टिंग लेने के बाद डोमेन नेम रजिस्टर करना आसान है! ज्यादातर वेब होस्टिंग के साथ लोग डोमेन नेम भी खरदते है। कई ऐसी कंपनी हैं जो वेब होस्टिंग के साथ फ्री डोमेन नेम देती हैं।  जैसे Bluehost कंपनी वेब होस्टिंग में साथ में एक फ्री डोमेन नेम का ऑप्शन देती हैं।

Get Free Domain Name from Bluehost

वेब होस्टिंग के प्रकार (Types of Web Hosting)

अधिकांश वेब होस्टिंग कंपनी अलग-अलग प्रकार की होस्टिंग देती है और सभी के प्राइस अलग-अलग होते हैं। हम आपने वेबसाइट की जरूरतों के आधार पर वेब होस्टिंग खरीद सकते है।

आपको कौन सा वेब होस्टिंग लेना है ये फैसला करने से पहले आपको ये सहजना पड़ेगा हो कौन-कौन से वेब होस्टिंग होते है और हमारे वेबसाइट के लिए कौन सा वेब होस्टिंग उपयुक्त है। कितने प्रकार के वेब होस्टिंग होते हैं निचा हमने विस्तार दे बताइ है :

Shared Hosting

  • Save

शेयर्ड होस्टिंग सबसे सामान्य प्रकार की वेब होस्टिंग है और अधिकांश ऑनलाइन बिज़नेस के लिए अच्छा है। शेयर्ड होस्टिंग के साथ, कई कस्टमर एक शक्तिशाली सर्वर पर स्टोरेज की जगह शेयर करते हैं। शेयर्ड होस्टिंग के कई फायदे हैं।

शेयर्ड होस्टिंग सस्ता होता है – पूरी मशीन को किराए पर देने की तुलना में सर्वर पर स्थान शेयर करना बहुत सस्ता होता है।

उपयोग में आसानी – आपका सर्वर पहले से कॉन्फ़िगर हुआ होता है, सुव्यवस्थित, उपयोग में आसान है, और आपकी होस्टिंग कंपनी आपके लिए सभी मेंटेनेंस और सुरक्षा अपडेट करती है।

Dedicated Hosting

  • Save

डेडिकेटेड होस्टिंग का मतलब है कि पूरा सर्वर आपके पास है। यह आपको VPS की तरह एक्सेस देता है, लेकिन आपको सर्वर को अन्य साइटों या ऐप्स के साथ शेयर करने की आवश्यकता नहीं है।

यदि आप एक समर्पित(डेडिकेटेड) होस्टिंग पैकेज लेते हैं, तो स्टोरेज शेयर करने के बजाय, आपको अपने लिए एक सर्वर मिलता है। डेडिकेटेड होस्टिंग के काफी सरे फायदे हैं जैसे:

कस्टमाईजेसन — आप अपनी व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को कस्टमाईज़ कर सकते हैं

असीमित संसाधन – चूंकि आप सर्वर को किसी के साथ शेयर नहीं करते हैं इसलिए सभी स्टोरेज स्पेस आपका है।

पूर्ण नियंत्रण – आप अपनी इच्छानुसार सेटअप को कॉन्फ़िगर कर सकते हैं।

VPS Hosting

  • Save

वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (VPS) होस्टिंग में एक डेडिकेटेड सर्वर की सभी विशेषताएं शामिल हैं, जो शेयर्ड सर्वर के प्राइस के आस पास है। VPS होस्टिंग एक cPanel पर बनी है और कई टूल्स के साथ आसान नेविगेशन की सुविधा देता है।

इसमें आप एक चिक में  आप WordPress, Magento और Drupal इंस्टॉल कर सकते है। साइट नेविगेशन बहुत आसान है और एक अच्छा इंटरफ़ेस साइट मैनेजमेंट को बनाता है।  

VPS का मतलब वर्चुअल प्राइवेट सर्वर है। शेयर्ड होस्टिंग की तरह, वीपीएस पर चलने वाली वेबसाइटें अन्य वेबसाइटों के साथ एक फिजिकल  सर्वर शेयर करते हैं। हालांकि, सभी VPS सर्वर के आपने पार्टीशन हैं और डेडिकेटेड सर्वर हैं। अक्सर अधिक मेमोरी, स्टोरेज और प्रोसेसिंग पावर उपलब्ध होती है प्राइस के अनुसार।

VPS होस्टिंग अनुभवी उपयोगकर्ताओं के लिए है जिनके पास सर्वर मैनेजमेंट स्किल है। VPS ग्राहकों के पास उनके पार्टीशन के रूट तक है एक्सेस होता है और वे अपने सर्वर सॉफ़्टवेयर को कॉन्फ़िगर कर सकते हैं।

आप “बिजनेस होस्टिंग” या “प्रीमियम होस्टिंग” में आ सकते हैं, जो सामान्य शब्द हैं जो कुछ होस्टिंग प्रदाता अपने इन-हाउस विशेषज्ञों द्वारा मैनेज किये जाते हैं।  हालांकि, वपस होस्टिंग के प्राइस, सपोर्ट और सब्सक्रिप्शन बाकि सभी होस्टिंग सर्विस से अलग हैं।

Cloud Hosting

  • Save

क्लाउड होस्टिंग को अक्सर सभी सेवाओं में सबसे विश्वसनीय माना जाता है। एक सर्वर के डिस्क स्टोरेज पर निर्भर होने के बजाय, यह कई रिसोर्सेज से अपनी शक्ति लेती है, यह सुनिश्चित करता है कि आपके पास कभी भी डाउनटाइम न हो। आप किसी भी समय अपने क्लाउड स्पेस जोड़ सकते हैं।

इन दिनों, क्लाउड होस्टिंग एक फेमस शब्द बन गया है। इसलिए, यदि आप “क्लाउड होस्टिंग” के लिए साइन अप कर रहे हैं, तो आपको जो सर्विस मिल रहा है, उस पर बारीकी से गौर करने की सलाह देंगे।

यदि आपके वेब एप्लिकेशन में अचानक ट्रैफ़िक बढ़ जाता है, तो सिस्टम अधिक संसाधनों का उपयोग करने बाकि चीजों को सुचारू रूप से चलाने में सक्षम होगा।

How much does website hosting cost?

सभी वेब होस्टिंग सर्विस का प्राइस अलग-अलग होता है। आप एक मुफ्त वेब होस्टिंग सेवा का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन, हम उसकी सलाह नहीं देते।

Free VS Paid वेब होस्टिंग

मुफ्त होस्टिंग का का प्रॉब्लम ये है की इसमें  विज्ञापित आते है और वेबसाइट का यूआरएल भील आपका नहीं होत। जब आप वेब होस्टिंग आपने खुद का खरीदते हैं, तो आपका आपने वेबसाइट पर पूरा नियंत्रण होता है।

आपको मुफ्त वेब होस्टिंग की तुलना में पेड वेब होस्टिंग क्यों चुननी चाहिए, इसके कई कारण हैं:

बैंडविड्थ और डिस्क स्पेस – मुफ्त वेब होस्ट अपने उपयोगकर्ताओं को कम बैंडविड्थ और सीमित डिस्क स्पेस देंगे। पेड वेब होस्टिंग असीमित बैंडविड्थ और डिस्क स्पेस देता है।

कंटेंट लिमिटेशन – पेड वेब होस्टिंग के विपरीत, आपके द्वारा अपलोड की जाने वाली इमेजेज और वीडियो की मुफ्त होस्टिंग के साथ, सीमित है।

सुरक्षा प्रॉब्लम – पेड की गई वेब होस्टिंग आमतौर पर बहुत अधिक सुरक्षा के साथ आती है। एक मुफ्त वेब होस्टिंग का उपयोग करके, आपको सुरक्षा तोड़ने का अधिक जोखिम होता है। इसका मतलब है कि आपके ग्राहक के क्रेडिट कार्ड की जानकारी और अन्य डेटा चुराया जा सकता है।

डोमेन नाम और यूआरएल – मुफ्त होस्टिंग आपको अपने यूआरएल में उनके नाम के साथ एक डोमेन नाम देंगे। जब आप पेड होस्टिंग का उपयोग करते हैं, तो आपको एक कस्टम URL मिलेगा और आप अपना डोमेन नाम चुन सकते हैं।

सर्वर की गति – मुफ्त वेब होस्टिंग सर्वर अक्सर ओवरलोड हो जाते हैं, जिसका मतलब है कि आपको निर्धारित डाउनटाइम के कुछ घंटों तक इंतजार करना पड़ सकता है। पेड होस्टिंग प्रोवाइडर गारंटीड अपटाइम के साथ हाई-स्पीड ड्राइव देते हैं।

 

Similar Posts